संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Monday 19 May 2008

इस दिल से तेरी याद भुलाई नहीं जाती... रफी साहब

रफी साहब का गाया हुआ यह गैर फिल्मी गीत आज तक नहीं सुना था। आज सुबह मेल खोलते ही सबसे पहले रफीमूर्ति साहब की मेल मिली और उसमें था रफी साहब का गाया हुआ अनमोल गैर फिल्मी गीत.. इस दिल से तेरी याद भुलाई नहीं जाती- ये प्यार की दौलत है लुटाई नहीं जाती।

अन्तर्जाल पर इस गीत के बारे में बहुत खोजने पर भी कोई जानकारी नहीं मिली, कि किस संगीतकार ने इस गीत की संगीत रचना की है और कौन गीतकार हैं। आप के पास अगर कोई जानकारी हो तो जरूर बतायें।

तब तक आप सुनिये यह मधुर गीत..

और धन्यवाद मूर्ति साहब, एक और अनमोल नग्मा भेजने के लिये।

is-dil

12 टिप्पणियाँ/Coments:

Udan Tashtari said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बढ़िया गीत सुनाया. इंक ब्लागिंग भी लगे हाथ हो गई. बधाई.

मीत said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह सागर भाई. मज़ा आ गया. बहुत बहुत शुक्रिया इतना बढ़िया गीत सुनवाने का.

अजित वडनेरकर said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

शुक्रिया सागर भाई, आनंद लिया इस कालजयी रचना का।

yunus said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

आपसे इसी तरह की रचनाएं लाने की उम्‍मीद रहती है । शुक्रिया ।

अभिषेक ओझा said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत बढ़िया गीत, हमने भी कभी नहीं सुना था की रफी साब ने गैर फिल्मी गीत गाए हो.

A S MURTY said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सागरजी नमस्कार. रफी साहब का यह अमर गीत मुझे पाकिस्तान से भेंट के रूप में मिला है. सिन्द पाकिस्तान के जेवेद अहमद लाखो ने मुझे जब भेजा था, उस वक़्त उन्होने फिल्म का नाम नहीं बताया था. सिर्फ गाना ही भेजा था. चूँकि आपने फिल्म का नाम जानने की इच्छा व्यतीत की और मेरे फिर पूछने पर, जेवेद ने बताया की फिल्म का नाम है - कनीज़ जो की १९४९ में बनी थी. इस गाने को आपके के सुनहरे पन्नों में सुशोभित करने के लिए परम परम धन्यवाद.

A S MURTY said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

अभिषेक ओझा जी नमस्कार. रफी साहब ने गैर फिल्मी गीतों में भी अपनी छाप छोड़ी है. उन्होने पंजाबी, हिंदी, उर्दू, व अन्य कई भाषाओं में गैर फिल्मी गाने गए हैं जो की सैकडों हैं. फिर कभी मैं ऐसे ही कुछ गीत सागर जी को ज़रूर भेजूँगा ताकि आप सभीको उन गीतों को सुनाने का अवसर मिलेगा.

Sujayita said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates
This comment has been removed by the author.
Sujayita said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates
This comment has been removed by the author.
Sujayita said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates
This comment has been removed by the author.
Sujayita said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

As far as I know, this is the information for this song. :)
1949-NON FILM-Is Dil Se Teri Yaad-Mohd. Rafi-Lyrics: Rajinder Krishen-Music: Hansraj Behl

गुड्डोदादी said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates
This comment has been removed by the author.

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO