संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Friday 23 May 2008

लाई किस्मत आँसुओं का जाम क्यूं..?

लुट गया दिन रात का आराम क्यूं- ए मुहब्बत  तेरा ये अंजाम क्यूं

महफिल में आज सुनिये 1949 में बनी  फिल्म लेख का एक  मधुर और बहुत कम  सुना जाने वाला गीत, लुट गया..। इस फिल्म के गायक है स्व. मुकेश और फिल्म के गीतकार- संगीतकार क्रमश: कमर जलालाबादी और कृष्ण दयाल हैं। फिल्म के मुख्य कलाकार हैं मोतीलाल, सुरैया, सितारादेवी और कुक्कू।

 

 

लुट गया दिन रात का आराम क्यूं
ऐ मुहब्बत तेरा ये अंजाम क्यूं

हमने मांगी थी मुहब्बत की शराब
लाई किस्मत आंसुओं का जाम क्यूं..लुट गया

दिल समझता है के तू है बेवफ़ा
आ रहा है लब पे तेरा नाम क्यूं..

लुट गया दिन रात का आराम क्यूं
ऐ मुहब्बत तेरा ये अंजाम क्यूं

 

8 टिप्पणियाँ/Coments:

मीत said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

क्या बात है सागर भाई. बहुत दिनों बाद सुना ये गीत. ये गीत मेरे पास LP रेकॉर्ड पे है. और turn table ख़राब पड़ा है ज़माने से. क्या करूं ? बहरहाल, शुक्रिया ...... आप की दुआ से सारे गीत सुनने को मिल ही जाते हैं.

शायदा said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत पुराना और सुंदर गीत सुनवाया आपने। अच्‍छा लगा।

mehek said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

bahut sundar

Neeraj Rohilla said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सागरजी,

इस गीत ने तो सबका मन लूट लिया होगा । आगे भी आप ऐसे ही खजाने लाते रहें ।

Harshad Jangla said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

Sagarbhai
A rare song, nice one.

Thanx.
-Harshad Jangla
Atlanta, USA

ममता सिंह said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह क्‍या बात है । 1949 में राजकपूर की बरसात भी आई थी । और मुकेश वहां कुछ अलग अंदाज़ में सुनाई पड़ते हैं । सागर भाई इस गाने को सुनना अदभुत अनुभव है । कृष्‍णदयाल के बारे में मुझे भी नहीं पता । खोज करनी होगी ।

ममता सिंह
यूनुस खान

yashwant rathore said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सीधे सादे बोल और दो लेखक! कीमती !!

yashwant rathore said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सीधे सादे बोल और दो लेखक! कीमती !!

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO