संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Thursday, 19 March, 2009

रफी साहब का एक और अंग्रेजी गीत सुनिये

आप रफी साहब का गाया अंग्रेजी गीत तो कबाड़खाना और अल्पना जी के ब्लॉग व्योम के पार पर सुन चुके हैं पर क्या आपने यह गीत सुना है?

the she i love is the beautyfull- beautyfull dream come true
i love her love love love her...
जी हां रफी साहब ने Although We Hail from Different Land के अलावा यह अंग्रेजी गीत भी गाया हुआ है। यह गीत हम काले हुए तो क्या हुआ दिलवाले हैं की तर्ज पर ढ़ला हुआ है, लीजिये सुनिये।



Download Link
इस गीत के बारे में ज्यादा जानकारी उप्लब्ध नहीं है, शायद मूर्ति साहब कुछ मदद करें, सुन रहे हैं ना मूर्ति साहब?

9 टिप्पणियाँ/Coments:

PN Subramanian said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत ही सुन्दर. यदि आप इसका डाउनलोड लिंक देते तो मजा आ जाता.आभार.

मोहिन्दर कुमार said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

नाहर जी.. रफ़ी जी का एक नया रूप दिखाने/सुनवाने के लिये आभार

दिलीप कवठेकर said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह सागर जी , बहुत अच्छा गीत लाये है.

जब ये गीत रिलीज़ हुआ था तो एक EP Record पर एक तरफ़ ये गीत और दूसरे ओर Although we hail from different Lands गीत था जो हमारे पास था और एक दिन टूट गया.

अब आप इसे भेज दें मेल से तो मेहरबानी होगी!!

महेन said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह जी... रफी साहब के रंग ख़त्म ही नहीं होने को आते.

राज भाटिय़ा said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

मेने यह सुंदर गीत पहली बार सुना, बहुत ही अच्छ लगा.
धन्यवाद

नितिन व्यास said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सुन्दर! लेकिन शायद ओरिजिनल हि्दी गीत तो सुनने का बाद ये कापी वर्जन ही लगता है।

Dr Prabhat Tandon said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह कमाल है , आप का भी और रफ़ी साहब का भी !! सागर भाई , कहाँ से ढूँढ लाये इस नायाब हीरेद्वारा गाये इस गीत को !

mamta said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

मजा आ गया इस नायाब गीत को सुनकर ।

MUFLIS said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

Rafi sahab ka ye geet pehle bhi kabhi suna tha
tarz wohi "hm kaale hai to kya hua..."
ek aur geet bhi suna tha jo is geet ki tarz pr tha ..."baharo phool barsaao..."
lafz poore yaad nahi aa rahe haiN.
khair khoobsurat prastuti ke liye aabhaar.
---MUFLIS---

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO