संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Thursday 13 September 2007

क्या आपने इरा नागरथ के गाने सुने हैं?

मेरी कोशिश रहती है कि महफिल में उन गायक- गायिकाओं के गाने आपको सुनाऊं जिन्हें उतनी शोहरत नहीं मिली जिनके वे हकदार थे। इस श्रेणी में आपको जो गाने सुनवा रहा हूँ उसमें पहले गाने में लता जी का साथ दिया है इरा नागरथ ने। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इरा नागरथ कौन थीं?.... इरा नागरथ; सुप्रसिद्ध संगीतकार रोशन की पत्नी थी। राजेश और राकेश रोशन की माँ तथा ऋत्विक रोशन की दादीजी।

इस गाने के बारे में कई मतभेद है कि यह गाना मीना कपूर ने गाया था, जो कि इस फिल्म के संगीतकार अनिल विश्वास की पत्नी थी। पर ध्यान से गाना सुनने पर आवाज मीना कपूर की नहीं लगती। कई लोगों का कहना है कि इरा नागरथ नहीं इरा मजूमदार ने यह गाना गाया है। शायद यूनुस भाई इस बारे में ज्यादा जानकारी दे सकें।

तब तक हम इन बातों में पड़ने की बजाय इस सुन्दर गाने का आनन्द लेते हैं।

इस गाने को लिखा है शम्स अज़ीमाबादी ने और संगीत ... मेरे प्रिय संगीतकार अनिल विश्वास ने फिल्म का नाम है अनोखा प्यार जिसमें दिलीप कुमार, नलिनी जयवन्त, और नरगिस मुख्य भूमिका में थे और फिल्म के निर्देशक थे एम आई धर्मसे। धर्मसे ने दो और भी फिल्मों का निर्देशन किया था हमारी बात १९४३ और सौदागर १९५१

लता: ऐ दिल मेरी वफ़ा में कोई असर नहीं है

मैं मर रही हूँ जिन पर उनको खबर नहीं है

ऐ दिल मेरी वफ़ा में

मेरे ही दिल में रह कर मुझ पर नज़र नहीं है

ऐ दिल मेरी वफ़ा में ...

इरा: दिल लेके अब कहाँ है दिल के जगाने वाले-२

आँखों से दूर क्यों है दिल में समाने वाले-२

कोई उन्हें बताएं मुझको खबर नहीं है

ऐ दिल मेरी वफ़ा में ...

लता: उठते हैं दिल के शोले,आँखों में है अन्धेरा

मैं हो गई किसी की, कोई हुआ न मेरा-३

जो आग इधर लगी है, वो आग उधर नहीं है

ऐ दिल मेरी वफ़ा में ...

इरा: अब याद में किसी की, मर मर के जी रही हूँ

आँसू जो आ रहें हैं, आँखों में पी रही हूँ

अब याद में किसी की, मर मर के जी रही हूँ

होती है दिल में और आँख कर रही है

ऐ दिल मेरी वफ़ा में ...

Ai Dil Meri Wafa M...
जब बात अनोखा प्यार फिल्म की चली हो तो लगे हाथ इस फिल्म के दो और सुन्दर गाने भी आपको सुनवा देता हूँ। और वह है जीवन सपना टूट गया- यह गाना जिया सरहदी ने लिखा है और इसे लता जी और मुकेश दोनो ने अलग अलग गाया है। दोनों गानों की पहली पंक्ति एक सी है - जीवन सपना टूट गया। बाकी का गाना पूरा अलग है। लीजिये दोनों गानों का आनन्द उठाईये। पहले लताजी का गाया हुआ।
Jeevan Sapna Toot ...
और मुकेशजी का गाया हुआ :
JeevanSapnaTootGay...

NARAD:Hindi Blog Aggregator

title="नई प्रविष्टी"> width="125" height="30">

Learn-Hindi, Hindi-Blogging, Hindi, Hindi-Blog, Old-Hindi-Songs, Hindi-Films-Song, Rare-Hindi-Songs, Hindi-Film-Sangeet, हिन्दी-खोज, हिन्दी-ब्लॉग, हिन्दी-चिट्ठाकारिता, सफल-हिन्दी-चिट्ठाकारिता, प्रसिद्ध-चिट्ठे, प्रसिद्ध-हिन्दी-चिट्ठे, चिट्ठा-प्रचार, चिट्ठा-प्रसार, जाल-प्रचार, जाल-सफलता, पुराने-हिन्दी-गाने, हिन्दी-फिल्म-संगीत,

4 टिप्पणियाँ/Coments:

Lavanyam - Antarman said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

इरा नागरथ ,
रोशन सा'ब की पत्नी थीँ ? वाकई ?
आप सचमुच बडे रेर गाने लाते हो नाहर भाईसाहब ~
सुनकर बहोत खुशी हुई
शुभकामना सहित
--लावण्या

yunus said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सागर भाई इरा नागरथ तो रोशन साहब की पत्‍नी थीं और उनकी कई धुनों की साझीदार भी ।
मैंने सुना है कि रोशन अपनी हर धुन उनके साथ डिस्‍कस करते थे ।
मैंने ये गाना नोट कर लिया है ।
कल या परसों तक इसके ओरीजनल रिकॉर्ड को खोजकर आपको जानकारी देता हूं ।
मुझे तो ये मीना कपूर की आवाज़ नहीं लगती ।

yunus said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

ममता कह रही हैं कि अगर कहीं से पता नहीं चला तो
हम राजेश रोशन से पूछकर बता देंगे ।
यानी अब हम पता करके ही रहेंगे ।
सुन लिया सागर भाई

Aditya said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

फ़िल्म में यह गाना लता मन्गेश्कर और मीना कपूर की आवाज़ में था। जब इसका रिकार्ड बनाया जा रहा था, मीना कपूर अस्वस्थ थीं। इसी कारणवश उनका गाया हुआ हिस्सा इरा नागरथ की आवाज़ में रिकार्ड किया गया। इस फ़िल्म मेँ नर्गिस पर फ़िल्माये सभी गाने मीना कपूर की आवाज़ मेँ थे, और लता जी नलिनी जयवन्त की आवाज़ थीं। हालांकि रिकार्ड पर ये सभी गाने लता जी ने ग़ाये, मीना जी की अस्वस्थता के कारण।

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO