संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Sunday, 25 October, 2009

परदेसी क्यूं याद आता है.. एक दुर्लभ गीत सितारा बाई की आवाज में

मैने कई बार पहले भी जिक्र किया था कि मेरे पास दो ऑडियो कैसेट्स है जिनका नाम है The Vintage Era, इस संग्रह के कुछ गीत मैं आपको पहले सुना चुका हूं। आज बैठे बैठे एक और गीत याद आया " नगरी कब तक यूं ही बरबाद रहेगी... यह 1944 में बनी फिल्म मन की जीत का है लेकिन ओस चाटने से भला कभी प्यास बुझती है? मैं इस फिल्म के सभी गीतों को सुनना चाहता था, दो गीत तो मेरे संग्रह में पहले से थे। पहला तो उपर बता चुका हूं और दूसरा ए चांद उम्मीदों को मेरी! अन्तर्जाल के अथाह समुद्र में खोजते ही एक और गीत मिल गया, और आज वही गीत मैं आज आपको यहां सुना रहा हूँ।
फिल्म मन की जीत (1944) के संगीतकार वहीजुद्दीन ज़ियाउद्दीन अहमद (W.Z.Ahmed) हैं। गुजरात में जन्मे अहमद साहब बँटवारे के बाद पाकिस्तान में जाकर बस गये, और इनकी पत्नी नीना ने फिल्म मन की जीत के कई गीत गाये पर पता नहीं बाद में क्यों नीना के गाये गीतों की जगह दूसरे कलाकारों ने ले ली। खैर बहुत सी कहानियां हैं.. हम गीत पर आते है, यह गीत सितारा बाई कानपुरी ने गाया है। इसके गीतकार हैं जोश मलीहाबादी।

डाउनलोड लिंक


एक और प्लेयर ताकि सनद रहे (बकौल यूनुस भाई)



परदेसी क्यूँ याद आता है
परदेसी क्यूँ याद आता है

इक चाँद छमक कर जंगल में
छुप-छुप कर उंडे बदल में
जब सपना सा दिखलाता है
परदेसी क्यूँ याद आता है
परदेसी....

पूरब से पवन जब आती है
जब कोयल कूक सुनाती है
जब बादल घिर के आता है
परदेसी क्यूँ याद आता है
परदेसी....

हिरदे की घनेरी छाओं का
अरमानों का आशाओं का-२
जब घूंघट पट खुल जाता है
परदेसी क्यूँ याद आता है
परदेसी

जब बीते दिन याद आते हैं
बदल की तरह मंडलाते हैं
जब घायल दिल घबराता है
परदेसी क्यूँ याद आता है
परदेसी....

6 टिप्पणियाँ/Coments:

Kedar said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाह सागरजी, सुबह सुबह यह गाना सुनकर मन प्रफुल्लित हो गया I यह रचना जितनी सुनने में सरल है उतनी ही गायकी में कठिन है I सितारा बाई कानपुरी ने सही मायने में इस गाने को निभाया है I धन्यवाद इस सुन्दर रचना को सुनवाने के लिए ....

Dr Prabhat Tandon said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

एक और दुर्लभ खोज , शुक्रिया सागर भाई !!!

राज भाटिय़ा said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सागर जी आप भी समुंदर से मोती ढुढ कर लाते है, बहुत सुंदर गीत.
धन्यवाद

surhall said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

Hi brother

Old is gold hain allways,
i have all 7 song 1944 man ki jeet
very good u/l ,
dhall

अभिषेक ओझा said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

कहानियाँ तो थोडी और सुना देते आप ! उसका अपना ही मजा है.

Vinayak said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

Indeed a rare song. Heard first time. Many Thanks.

Vinayak

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO