संभव है कि होम पेज खोलने पर इस ब्लॉग में किसी किसी पोस्ट में आपको प्लेयर नहीं दिखे, आप पोस्ट के शीर्षक पर क्लिक करें, अब आपको प्लेयर भी दिखने लगेगा, धन्यवाद।

Wednesday 13 May 2009

मज़हबी एकता का एक सुन्दर गीत !!!

देश में चुनाव सम्पन्न हो गये हैं और इस चुनाव में बहुत से लोगों ने हिन्दुस्तानियों को एक दूसरे से लडाने के प्रयास किये। इस गीत में ऐसे फ़िरकापरस्तों के लिये करारा जवाब भी है और अपने देश की संस्कृति की साझा झलकी भी,

फ़िल्म: धर्मपुत्र (1961)
संगीत: नारायण दत्ताजी
गीतकार: साहिर लुधियानवी
गायक कलाकार: महेन्द्र कपूर, बलबीर और साथी

ये गीत कुछ कुछ कव्वाली की शक्ल लिये हुये है। गीत में ताली की थाप प्रारम्भ से बिल्कुल अलग सुनायी देती है लेकिन उसके बाद ताली की थाप सुनना थोडा मुश्किल है, ऐसे में क्या इसे कव्वाली कह सकते हैं? फ़िलहाल आप इस गीत को सुने और अपनी बेशकीमती राय से हमें अवगत करायें।

14 टिप्पणियाँ/Coments:

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत सुन्दर

आभार

मुम्बई टाईगर

हे प्रभु यह तेरापन्थ

संगीता पुरी said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत दिनों बाद सुना यह गीत .. अच्‍छा लगा।

Udan Tashtari said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

वाकई बहुत दिनों बाद सुना..अच्छा लगा.

Dr Prabhat Tandon said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

बहुत खूबसूरत !!

Anonymous said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

The music is by N.Datta whose real name was Datta Naik.

सागर नाहर said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

नीरज भाई,
बहुत सुन्दर गीत, मैने भी इसे एक लम्बे अरसे के बाद सुना।
धन्यवाद।

दिलीप कवठेकर said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

कव्वालीयों में शीर्ष स्थान के लिये चयनित कव्वाली!!

शुक्रिया.

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

Nice quwalli -- thanx Neeraj bhai

मीनाक्षी said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

काबे के देश में हैं और इस कव्वाली का लुत्फ बार बार ले रहे हैं...बहुत बहुत शुक्रिया

islamicwebdunia said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

इसलाम को लेकर आपके सवालों का जवाब यहाँ तलाशें

Anonymous said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

इसलाम क्या है , इसके बारे मे वाकई मे जानना चाहते हैं तो यहाँ किल्क करें

sanjay patel said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

विशुध्द क़व्वाली ही है ये सागर भाई.
कई बार लाइव क़व्वाली प्रस्तुति में भी तालियों का दौर थम जाता है.क़व्वाली का अंदाज़े बयाँ ही उसे क़व्वाली बनाता है.तालिया,हारमोनियम,ढोलक तो उसके आभूषण हैं.
लाजवाब प्रस्तुति है यह

Mired Mirage said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

रेडिओ के जमाने में यह गीत ख़ूब सुना है। सुनवाने के लिए आभार।
घुघूती बासूती

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said... Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

इन उस्तादोँ की गायकी के तो क्या कहने !!
वाह वाह ...
एकता का सँदेश आज ओबामा भी दे रहे हैँ
पर जो कट्टरवादी हैँ
उनके दिलोँ मेँ किसी के लिये जगह ही नहीँ
:-(
- लावण्या

Post a Comment

आपकी टिप्प्णीयां हमारा हौसला अफजाई करती है अत: आपसे अनुरोध करते हैं कि यहाँ टिप्प्णीयाँ लिखकर हमें प्रोत्साहित करें।

Blog Widget by LinkWithin

गीतों की महफिल ©Template Blogger Green by Dicas Blogger.

TOPO